IAS चंद्रकला के फर्जी अकाउंट पर मीडिया ने छापी खबरें

देश

08 Feb 2019

#NewsBytesExclusive: जिस अकाउंट के आधार पर खबरें छाप रहा था मीडिया, चंद्रकला ने उसे बताया फर्जी

उत्तर प्रदेश की चर्चित IAS अधिकारी बी चंद्रकला, उनके नाम पर बने एक लिंक्डइन अकाउंट के कारण सुर्खियों में हैं।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के चर्चित खनन घोटाले से जुड़े मामले में 5 जनवरी को CBI ने उनके घर पर छापेमारी की थी।

उसके बाद उनके नाम पर बने एक अकाउंट से कुछ कविताएं पोस्ट की गईं। कई मीडिया हाउस ने इस अकाउंट की सत्यता जांचे बिना इन कविताओं को चन्द्रकला के नाम से छाप दिया।

चंद्रकला ने बताया फर्जी अकाउंट

इस अकाउंट की पुष्टि के लिए जब हमने चंद्रकला से संपर्क साधा तो उन्होंने ऐसे किसी अकाउंट होने की बात का खंडन किया। उन्होंने बताया कि उनके फेसबुक और ट्विटर पर ही आधिकारिक अकाउंट हैं। उन्होंने भ्रामक पोस्ट पर ध्यान नहीं देने की अपील की।

अनवेरिफाइड अकाउंट

अनवेरिफाइड अकाउंट से पोस्ट की गई कविता

लिंक्डइन पर B Chandrakala के नाम से बने एक अकाउंट पर कविताएं पोस्ट की गई थी। इस अकाउंट को चंद्रकला का बताकर कविताओं को कई मीडिया हाउस ने छापा है।

यह अकाउंट वैरिफाइड नहीं है, इसलिए यह दावा नहीं किया जा सकता था कि यह चंद्रकला का ही अकाउंट है।

हालांकि, पहले इस अकाउंट पर पोस्ट हुई कविताओं को मीडिया ने कवर किया था, तब तक चंद्रकला की तरफ से उनका खंडन नहीं किया गया था।

देश की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

लिंक्डइन पोस्ट

इस कविता के कारण फिर चर्चा में आया अकाउंट

इस कविता के कारण फिर चर्चा में आया अकाउंट

इस अकाउंट से एक सप्ताह पहले कविता पोस्ट की गई थी। इस कविता के बाद यह अकाउंट फिर चर्चा में आ गया।

इसमें लिखा है, 'दोस्तो , भारतीय राजनीति ने फटे कुर्ते से लेकर लाखों के सूट तक के तमाम अच्छे दिन देख चुकी है, लेकिन भारतीय जवानी आज भी समस्याओं के दलदल में फंसी कराह रही है। राजनीति ने हमें '0=100 जानें ' का गणित भी सिखाया; कालेधन का साँप दिखाते-दिखाते, मदारी ने सौ जानें ले ली।'

अकाउंट पर उठे सवाल

कई मीडिया ने इस पोस्ट को चंद्रकला की पोस्ट बताकर पब्लिश किया है। इस अकाउंट से पहले पोस्ट हुई कविताओं को भी मीडिया ने छापा था। अब कुछ लोगों ने चंद्रकला के इस अकाउंट पर सवाल उठाए थे।

दावा

फेक अकाउंट होेेने का दावा

ट्विटर पर वेदांक सिंह नामक यूजर ने एक मीडिया हाउस के ट्वीट को कोट करते हुए लिखा कि किसी गंभीर मुद्दे पर फेक अकाउंट को आधार बनाकर खबर छापना शर्मनाक है। कोई बच्चा भी बता सकता है कि यह चंद्रकला का अकाउंट नहीं है।

इस ट्वीट के बाद सवाल उठने लगे थे कि क्या जिस लिंक्डइन अकाउंट को IAS चंद्रकला का बताया जा रहा वो फेक है? क्या मीडिया फेक अकाउंट के आधार पर खबरें बना रहा है?

अकाउंट को लेकर उठ रहे सवाल

खंडन

चंद्रकला के केवल फेसबुक और ट्विटर पर ही अकाउंट

एक तरफ जहां मीडिया इस अकाउंट पर पोस्ट हुई कविताओं से खबरें बना रहा है वहीं इस अकाउंट की सत्यता पर भी सवाल उठ रहे थे।

अब इस अकाउंट को लेकर उठ रहे सवालों का खुद चंद्रकला ने जवाब दिया है।

चंद्रकला ने बताया कि उनके नाम पर चल रहा लिंक्डइन अकाउंट फर्जी है।

उन्होंने कहा कि उनके केवल फेसबुक और ट्विटर पर ही अकाउंट हैं और ये दोनों अकाउंट वेरिफाइड हैं।

परिचय

जानिये कौन हैं IAS चंद्रकला

चर्चित IAS अधिकारी बी चंद्रकला 2008 की उत्तर प्रदेश काडर की अधिकारी हैं।

2014 में उनका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसमें वे एक ठेकेदार और इंजीनियर को सड़क की खराब गुणवत्ता को लेकर फटकार लगा रही थी।

कुछ समय तक वे प्रतिनियुक्ति पर दिल्ली में स्‍वच्‍छ भारत मिशन की निदेशक भी रहीं थी।

वे मेरठ, हमीरपुर, बुलंदशहर और मथुरा की DM रह चुकी हैं।

खबर शेयर करें

उत्तर प्रदेश

सोशल मीडिया

CBI रेड

खबर शेयर करें

अगली खबर