'दिल्ली के दबंग' जोगिंदर नरवाल से खास बातचीत

एक्सक्लूसिव

29 Aug 2019

#NewsBytesExclusive: प्रो कबड्डी लीग के दिग्गज खिलाड़ी 'दिल्ली के दबंग' जोगिंदर नरवाल से खास बातचीत

प्रो कबड्डी लीग (Pro Kabaddi League) के सातवें सीजन में भले ही रेडर्स ने अपना दबदबा बना रखा है, लेकिन डिफेंडर्स ने भी इस सीजन अलग लेवल का खेल दिखाया है।

इस सीजन देखा गया है कि जिस टीम के डिफेंस ने अच्छा खेल दिखाया है, उस टीम को जीत मिली है।

दिल्ली के दबंग कप्तान और दिग्गज डिफेंडर जोंगिदर नरवाल ने न्यूजबाइट्स से खास बातचीत की और इस सीजन के प्रदर्शन से लेकर अपने करियर पर जानकारी दी।

परिचय

लीग के दिग्गज खिलाड़ियों में से एक हैं जोगिंदर

दूसरे सीजन में बेंगलुरु बुल्स के साथ प्रो कबड्डी करियर शुरु करने वाले जोगिंदर ने यू मुंबा और पुणेरी पलटन के लिए भी खेला है।

पिछले सीजन जोगिंदर दिल्ली आए और 22 मैचों में 51 प्वाइंट लेकर उन्होंने पहली बार दिल्ली को प्ले-ऑफ में पहुंचाया।

इस सीजन 10 मैचों में 29 प्वाइंट ले चुके जोगिंदर लीग में कुल 70 मैचों में 157 प्वाइंट हासिल कर चुके हैं।

करियर

गोल्ड मेडलिस्ट भाई की वजह से कबड्डी प्लेयर बना

गोल्ड मेडलिस्ट भाई की वजह से कबड्डी प्लेयर बना

जोंगिदर के भाई 1994 एशियन गेम्स में गोल्ड मेडलिस्ट थे और उनकी अच्छी जॉब जिसके कारण उन्हें कबड्डी खेलने में रुचि हुई।

करियर की शुरुआत के बारे में जोगिंदर ने कहा, "मेरे भाई अच्छे प्लेयर थे और मुझे भी परिवार और भाई का पूरा सपोर्ट मिला जिसके कारण मैंने 9-10 साल की उम्र में ही कबड्डी खेलना शुरु कर दिया था।"

एक्सक्लूसिव की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

मेरे गांव में रोजाना 600-700 बच्चे करते हैं कबड्डी की प्रैक्टिस

जोगिंदर ने बताया कि उनका गांव कबड्डी का हब है और रोजाना 600-700 बच्चे सुबह-शाम कबड्डी की प्रैक्टिस करते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि अब तो मिट्टी में भी जूते पहनकर बच्चे खेल रहे हैं।

गलतियां

पिछले सीजन की गलतियों को दोहराना नहीं चाहते

जोंगिदर से जब हमने पूछा कि उनकी कप्तानी में ऐसा क्या हुआ कि पिछले दो सीजन में दिल्ली के प्रदर्शन में काफी सुधार देखने को मिला तो उन्होंने इसका श्रेय टीम को दिया।

दिल्ली के कप्तान ने कहा, "नीलामी में फ्रेंचाइजी ने अच्छी टीम बनाई थी। पिछले सीजन हम काफी पास पहुंचकर चूक गए थे, लेकिन इस सीजन हम उन गलतियों को दोहराना नहीं चाहते हैं।"

तालमेल

टीम में नहीं जूनियर-सीनियर वाली फीलिंग

आगे बात करते हुए जोगिंदर ने बताया कि उनकी टीम में मौजूद युवा खिलाड़ियों के साथ उन्हें कोई दिक्कत नहीं होती और टीम में तालमेल काफी बढ़िया है।

जोगिंदर ने कहा, "लीग शुरु होने से पहले हमने 2 महीने का कैंप किया था जिसमें कोच साहब ने हमें काफी कुछ बताया। हमारी टीम में जूनियर-सीनियर वाली फीलिंग नहीं है और हम सब एक-दूसरे को समझते हैं।"

प्रो कबड्डी लीग खिताब

खिताब जीतने के लिए कर रहे हैं पूरी कोशिश

इस बार दिल्ली काफी शानदार खेल रही है और होम लेग में सबसे सफल रहने वाली टीम बन गई है।

जब हमने जोगिंदर से पूछा कि क्या इस बार दिल्ली के खिताब जीतने की उम्मीदें ज़्यादा हैं तो उन्होंने कहा कि उनकी टीम पूरी कोशिश कर रही है।

जोगिंदर ने कहा, "हमारे डिफेंडर और रेडर दोनों ही शानदार खेल रहे हैं और हम पूरी कोशिश कर रहे हैं कि इस बार खिताब दिल्ली आए।"

प्लेइंग पोजीशन

हमेशा लेफ्ट-कॉर्नर खेला, लेकिन मौका आने पर रेड भी मारी

जोगिंदर ने बताया कि वह शुरुआत से ही डिफेंस में लेफ्ट-कॉर्नर खेलते आए हैं, लेकिन मौका आने पर उन्होंने रेड भी की है।

दिल्ली के कप्तान ने कहा, "मैं ONGC में जॉब करता हूं और वहां मैं समय आने पर रेड भी करता हूं। प्रो कबड्डी में भी मैंने रेड की है, लेकिन दिल्ली आने के बाद से मैंने रेड नहीं की है।"

रीडर्स के लिए जोगिंदर का मैसेज

बातचीत के अंत में जोगिंदर ने न्यूजबाइट्स के री़डर्स और उनके तमाम फैंस को धन्यवाद कहा। उन्होंने कहा, "हमें इतना सपोर्ट करने के लिए धन्यवाद।"

खबर शेयर करें

प्रो कबड्डी लीग

कबड्डी

खबर शेयर करें

अगली खबर