CA फाइनल मई 2019 के टॉपर का इंटरव्यू

एक्सक्लूसिव

15 Aug 2019

#NewsBytesExclusive: CA फाइनल मई 2019 में टॉप करने वाले अजय अग्रवाल से खास बातचीत

इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (ICAI) ने 13 अगस्त को मई 2019 चार्टर्ड अकाउंटेंसी फाइनल (ओल्ड कोर्स एंड न्यू कोर्स) और फाउंडेशन एग्जाम के नतीजे घोषित कर दिए हैं।

इस बार CA फाइनल (ओल्ड कोर्स) में अजय अग्रवाल ने टॉप करते हुए पहला स्थान हासिल किया।

उनकी इस उपलब्धि के बाद न्यूजबाइट्स ने अजय से खास बातचीत की।

इस बातचीत में अजय ने एग्जाम के लिए अपनी तैयारी, भविष्य की योजनाओं आदि के बारे में बताया।

उपलब्धि

मई 2018 में अजय के बड़े भाई ने किया था CA टॉप

भारत में पहली रैंक पाने पर खुशी जताते हुए अजय ने कहा, "सबसे ज्यादा नंबर लेना और पहले स्थान पर आना अच्छा लग रहा है।"

हमने उनसे पूछा कि क्या उन्हें टॉप करने की उम्मीद थी तो उन्होंने कहा, "मैं टॉप रैंक की उम्मीद कर रहा था क्योंकि मैंने पूरा सिलेबस दो साल पहले ही रिवाइज कर लिया था। मेरे बड़े भाई अतुल अग्रवाल, मई 2018 के CA फाइनल के ऑल इंडिया टॉपर थे। मुझे उनका मार्गदर्शन और मदद मिली।"

रिजल्ट

अजय को मिले 81.25 फीसदी नंबर

अजय को CA फाइनल (ओल्ड सिलेबस) में कुल 800 में से 650 नंबर मिले हैं। उन्होंने कहा, "मुझे यकीन था कि फाइनल एग्जाम में मेरे 80 प्रतिशत से ज्यादा नंबर आएंगे।"

खास बात यह है कि राजस्थान के कोटपुतली के रहने वाले अजय ने IPCC एग्जाम में 17वीं रैंक और एंट्री लेवल CA-CPT एग्जाम में देशभर में पांचवी रैंक हासिल की थी।

अजय के छोटे भाई ने भी इस साल CA CPT का एग्जाम दिया है।

एक्सक्लूसिव की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

मार्गदर्शन

भाई ने किया मार्गदर्शन

न्यूजबाइट्स ने जब उनसे पूछा कि उन्हें CA करने की प्रेरणा कहां से मिली तो उन्होंने कहा, "जब हम (अजय और उनके भाई) छोटे थे, तब हमने कॉमर्स लेने और CA करने की सोची। पहले मेरे भाई अतुल ने CA करना शुरू किया, मुझे भी CPT में रैंक मिली थी और मैं उनके नक्शे कदम पर चलता गया। इससे मुझे प्रेरणा मिली।"

उन्होंने कहा कि उनके भाई ने फाइनल एग्जाम पास किया और कहा कि यह काफी आसान है।

तैयारी

दिन में 8-10 घंटे पढ़ते थे अजय

CA की तैयारी करने के लिए अजय ने जयपुर के VCI क्लासेस से कोचिंग ली।

उन्होंने कहा, "आर्टिकलशिप के दौरान मैं दो घंटे तक क्लास लगाता और उसके बाद आर्टिकलशिप ट्रेनिंग अटेंड करता था, लेकिन मैं हर रोज घर पहुंचकर 1-2 घंटे तक रिवीजन करता था।"

अजय ने बताया कि एग्जाम से छह महीने पहले से उन्होंने दिन में 8-10 घंटे तक पढ़ना शुरू कर दिया था।

चुनौती

तैयारी में नहीं आई कोई चुनौती

अजय की सफलत बहुत बड़ी है। हमने उनसे जानना चाहा कि इसकी तैयारी के दौरान उन्हें किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा।

इस पर अजय ने कहा, "कोई खास चुनौती नहीं थी। मैं और मेरा भाई साथ मिलकर तैयारी करते थे और हमें किसी चुनौती का सामना नहीं करना पड़ा। इसके बाद अतुल ने CA फाइनल में पहली रैंक हासिल कर ली। मैं भी उनके मार्गदर्शन में आगे बढ़ रहा था। मुझे खुद पर भरोसा था।"

भविष्य की क्या योजनाएं हैं?

अजय ने बताया कि वह अपने भाई अतुल की फर्म में पार्टनर बनकर प्रैक्टिस करना चाहते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि वह CA फाइनल की तैयारी कर रहे बच्चों को पढाना चाहते हैं।

टिप्स

CA के छात्रों के लिए दीं ये टिप्स

हमने उनसे पूछा कि CA की तैयारी कर रहे बच्चों को वो क्या टिप्स देना चाहेंगे।

इस पर अजय ने कहा, "CA एक आसान कोर्स है, इसे कोई भी कर सकता है। अगर आप ICAI के स्टडी मटीरियल और तैयारी के लिए सिस्टम को फॉलो करते हैं तो आप आसानी से इसे पास कर सकते हैं।"

आगे उन्होंने कहा, "यह भी जरूरी है कि आप CA पास करने वाले और टॉपर्स से सलाह लेते रहें।"

खबर शेयर करें

राजस्थान

खबर शेयर करें

अगली खबर