आने वाले समय में ये नौकरियां हैं खतरे में

करियर

08 Jan 2019

जानिये किन क्षेत्रों की नौकरियों पर मंडरा रहा है खतरा और कहां बढ़ेंगे अवसर

आज के समय में जहाँ सरकारी नौकरी हर युवा का सपना होता है, वहीं कई लोग डॉक्टर, वकील, आर्किटेक्ट आदि नौकरी के लिए इच्छुक होते हैं। बायोलॉजी से 12वीं करने वाले ज़्यादातर छात्र डॉक्टरी में जाना चाहते हैं।

लेकिन हाल ही में BBC की एक रिपोर्ट के अनुसार कुछ ऐसे क्षेत्र हैं जिनमें अधिक नौकरियां और ज़्यादा संख्या में काम करने वाले लोग हैं, उन पर खतरा मंडरा रहा है।

आइए विस्तार से जानें क्या है पूरी खबर

डॉक्टर और वकील

डॉक्टरों और वकीलों की जरूरत कम पड़ेेगी

आपको ये सुनकर बहुत अजीब लग रहा होगा, क्योंकि डॉक्टरों की मांग हमेशा से ही अधिक रही है। लेकिन रिपोर्ट के मुताबिक बीमारियों की जांच में ऑटोमेटेड मशीनों की संख्या बढ़ रही है। जिससे इसके कुछ क्षेत्र की नौकरियां ख़तरे में आ जाएंगी।

वहीं भविष्य में दस्तावेज़ों को तैयार करने का काम और रोजमर्रा के कामों के लिए वकीलों की कम ज़रूरत होगी। भविष्य में अब ये काम कंप्यूटर सॉफ्टवेयर करने लगेंगे।

आर्किटेक्ट और एकाउंटेंट

आर्किटेक्ट और एकाउंटेंटों पर भी मंडरा रहा है खतरा

पहले आम इमारतों के डिज़ाइन के लिए भी आर्किटेक्चर की जरूरत पड़ती थी, लेकिन इन दिनों आम इमारतों का डिज़ाइन सॉफ्टवेयर करने लगे हैं। भविष्य में, आर्किटेक्चर की दुनिया में केवल वे ही टिक पाएंगे, जो रचनात्मक और कलात्मक आर्किटेक्ट होंगे।

वहीं रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि बेहद जटिल टैक्स कैलकुलेशन करने में दक्ष (कुशल) एकाउंटेंट की ही ज़रूरत होगी, बाकी आगे मामूली टैक्स का काम देखने वाले एकाउंटेंटों की ज़रूरत नहीं होगी।

करियर की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

पुलिस और जासूस

पुलिस, जासूस और रियल एस्टेट के कारोबारियों पर भी पड़ेगा फर्क

अगर हम अभी के समय को देखें तो रूटीन निगरानी और कम निपुणता वाली जांच पड़ताल का काम अत्याधुनिक तकनीकी व्यवस्थाओं के माध्यम से किया जाने लगा है। हालांकि पुलिस हो या फिर जासूस उनकी नौकरियां खत्म तो नहीं होंगी, लेकिन पेशेवरों की मांग कम हो जाएगी।

रियल एस्टेट के कारोबार में वेबसाइट्स एवं आनलाइन ख़रीदारी ने परंपरागत रूप से रियल एस्टेट का काम देखने वाले लोगों के काम पर भी काफी असर डाला है।

मिडिल मैनेजर पर पड़ेगा असर

तकनीक के बढ़ते इस्तेमाल के कारण ज़्यादा ख़तरा, कंपनियों में मिडिल मैनेजर के तौर पर काम करने वाले लोगों को होगा। इस रिपोर्ट को देखकर हम ये तो कह सकते हैं कि आगे आने वाले समय में इन नौकरियों पर प्रभाव दिखेगा।

क्षेत्र

इन क्षेत्रों में बढ़ेगी मांग

आपको बता दें कि जहां एक तरफ तकनीक के बढ़ते दख़ल के कारण कुछ नौकरियां कम होंगी तो वहीं दूसरी तरफ कुछ नौकरियां बढ़ेंगी भी। साथ ही आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सिस्टम, सॉफ्टवेयर और एल्गोरिदम डेवलप करने वाले डेवलपरों के लिए अवसर बेहतर होंगे।

सिस्टम का रख रखाव और रिपेयर करने वाले इंजीनियरों की मांग बढ़ेगी। इतना ही नहीं पानी वाले नल को ठीक करने वाले प्लंबर, बिजली मिस्त्री और बिल्डिंग बनाने वाले कुशल लोगों की मांग तब भी बनी रहेगी।

खबर शेयर करें

भर्ती

पुलिस भर्ती

डॉक्टरों

खबर शेयर करें

अगली खबर