छात्र और अमीर भारतीय दोनों पसंद करते हैं ओल्ड मॉन्क

बिज़नेस

07 Sep 2019

कॉलेज के छात्र ही नहीं, अमीर भारतीय भी पसंद करते हैं ओल्ड मॉन्क

1954 में अपनी शुरुआत के बाद से ओल्ड मॉन्क बाज़ार में डार्क रम का बादशाह बना हुआ है।

यह बाज़ार में ख़ुद को एक सस्ते और अच्छी गुणवत्ता वाले मादक पेय के रूप में पेश करता है।

रम की बात हो और ओल्ड मॉन्क का ज़िक्र न हो, ऐसा हो ही नहीं सकता है।

एक सर्वे से पता चला है कि इस भारतीय शराब ब्रांड के न केवल कॉलेज के छात्र बल्कि अमीर भारतीय भी दीवाने हैं।

आइए जानें।

रिपोर्ट

ओल्ड मॉन्क अमीर भारतीयों की पहली पसंद

हाल ही में जारी किये गए हुरुन इंडियन लक्ज़री कंज्यूमिस्टर सर्वे 2019 का उद्देश्य हाई नेट वर्थ इंडियन्स (HNI) की जीवनशैली, उपभोग और ब्रांड जागरूकता के प्रतिमानों को समझना है।

रिपोर्ट से पता चला कि ओल्ड मॉन्क HNI के बीच सबसे लोकप्रिय भारतीय शराब ब्रांड बना हुआ है। यह ब्रांड कम आय वाले लोगों की भी पहली पसंद बना हुआ है।

नए निष्कर्षों के आधार पर ऐसा लगता है कि ओल्ड मॉन्क की अपील में कोई कमी नहीं है।

प्रसिद्धि

70 के दशक में मोहन मीकिन का ओल्ड मॉन्क पहली बार प्रसिद्धि में आया

70 के दशक में मोहन मीकिन का ओल्ड मॉन्क पहली बार प्रसिद्धि में आया

ओल्ड मॉन्क को 1954 में मोहन मीकिन प्राइवेट लिमिटेड द्वारा पेश किया गया था।

1970 के दशक में जब रिटायर्ड ब्रिगेडियर कपिल मोहन ने अपने पिता एनएन मोहन से पदभार संभाला, तो डार्क रम तेज़ी से लोकप्रिय हो गई।

हालाँकि, 2014 तक बढ़ती प्रतिस्पर्धा के साथ ओल्ड मॉन्क के शेयर बाज़ार में गिरावट आई और भारत की रम बाज़ार में 5% तक गिर गई।

2018 में कपिल की मृत्यु के बाद ओल्ड मॉन्क की प्रसिद्धि फिर से बढ़ गई।

बिज़नेस की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

इतिहास

1855 का है मोहन मीकिन का इतिहास

मोहन मीकिन की जड़ें 1855 से जुड़ी हुई हैं। एक अंग्रेज़ उद्यमी, एडवर्ड अब्राहम डायर ने बीयर के लायन ब्रांड के निर्माण के लिए कसौली में शराब के भट्ठी की स्थापना की।

कई अन्य ब्रुअरीज और डिस्टिलरी खोलने के बाद कंपनी का एक और संचालक ब्रुअरी, मीकिन एंड कंपनी के साथ विलय हो गया।

भारत की स्वतंत्रता के बाद, कंपनी को एनएन मोहन द्वारा अधिग्रहीत कर लिया गया और 1949 में इसका नाम बदलकर मोहन मीकिन ब्रुअरीज कर दिया गया।

उपहार

अमीर भारतीय पुरुषों के बीच सबसे लोकप्रिय उपहार है घड़ियाँ- रिपोर्ट

अमीर भारतीय पुरुषों के बीच सबसे लोकप्रिय उपहार है घड़ियाँ- रिपोर्ट

हुरुन की रिपोर्ट में अन्य निष्कर्षों में कहा गया है कि ब्रिटेन HNI के बीच सबसे पसंदीदा विदेशी निवेश वाली जगह है, उसके बाद दूसरे नंबर पर सिंगापुर है।

HNI ने कहा कि इस साल के लिए उनकी निवेश फिलॉसफी "जोखिम से बचना" होगा। हालाँकि, 14% ने कहा कि वे "सक्रिय निवेश करेंगे।"

रिपोर्ट में कहा गया है कि घड़ियाँ, पुरुषों के बीच सबसे लोकप्रिय उपहार हैं, जबकि महिलाओं के बीच गहने पहले स्थान पर हैं।

खबर शेयर करें

भारत

शराब

बिज़नेस

ओल्ड मोंक

खबर शेयर करें

अगली खबर