SBI 1 अगस्त से IMPS लेनदेन पर नहीं लेगा शुल्क

बिज़नेस

12 Jul 2019

भारतीय स्टेट बैंक 1 अगस्त से IMPS लेनदेन के लिए नहीं लेगा शुल्क

डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने 1 अगस्त से IMPS लेनदेन के लिए शुल्क न लगाने का फ़ैसला किया है।

इसका मतलब है कि जो ग्राहक पैसे ट्रांसफ़र करने के लिए YONO, इंटरनेट बैंकिंग (INB) और मोबाइल बैंकिंग (MB) का उपयोग करते हैं, उन्हें कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होगा।

भारतीय रिज़र्व बैंक के RTGS और NEFT से बैंकों के शुल्क माफ़ करने के अनुरोध के हप्तों बाद SBI ने यह फ़ैसला लिया है।

परिचय

पहले जानें IMPS क्या है?

IMPS, जिसका मतलब है तत्काल भुगतान सेवा। इसे 22 नवंबर, 2010 को नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा शुरू किया गया था।

इस सुविधा के माध्यम से एक बैंक खाता धारक तुरंत उसी बैंक या किसी अन्य बैंक के अन्य खातों में पैसे ट्रांसफ़र कर सकता है।

ग्राहकों के बीच IMPS को ज़्यादा लोकप्रिय होने का सबसे बड़ा कारण यह है कि यह बैंक छुट्टियों के बाद भी 24*7 काम करता है।

शुल्क

IMPS के लिए कितना शुल्क लेता है SBI

IMPS के लिए कितना शुल्क लेता है SBI

अब तक SBI 1,000 रुपये तक के IMPS लेनदेन पर कोई शुल्क नहीं लेता है।

SBI 1,001 से 10,000 रुपये के बीच के लेनदेन पर 1 रुपये शुल्क लेता है। वहीं, इस स्लैब के लिए ग्राहकों से कमीशन राशि के रूप में 2.36 रुपये शुल्क लिए जाते हैं, क्योंकि इसमें GST शामिल है।

इसी तरह 10,001 से 1 लाख रुपये के बीच के IMPS पर 2 रुपये, जबकि कमीशन शुल्क के तौर पर 5.90 रुपये लिए जाते हैं।

बिज़नेस की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

ज़्यादा लेनदेन के लिए ज़्यादा शुल्क लेता है SBI

1 लाख रुपये से 2 लाख रुपये के बीच के लेनदेन के लिए SBI 3 रुपये IMPS शुल्क के तौर पर लेता है, जबकि कमीशन शुल्क के तौर पर ग्राहकों से 11.80 रुपये लिए जाते हैं।

अनुसरण

डिजिटल अर्थव्यवस्था बनाने के केंद्र की दृष्टि का अनुसरण कर रहा है SBI: अधिकारी

IMPS शुल्क को अलविदा कहना SBI का इकलौता बड़ा परिवर्तन नहीं है।

1 जुलाई से SBI ने RTGS और NEFT पर भी शुल्क लेना बंद कर दिया है।

SBI ने सभी स्लैबों में शाखा नेटवर्क के माध्यम से लेनदेन करने वाले ग्राहकों के NEFT और RTGS शुल्क को भी 20% तक घाटा दिया है।

SBI के MD, रिटेल और डिजिटल बैंकिंग पीके गुप्ता ने कहा कि यह क़दम डिजिटल अर्थव्यवस्था बनाने के केंद्र की दृष्टि का अनुसरण करती है।

SBI ऑनलाइन बैंकिंग का 6 करोड़ से ज़्यादा ग्राहक करते हैं इस्तेमाल

31 मार्च, 2019 तक SBI के 6 करोड़ से अधिक ग्राहकों ने इंटरनेट बैंकिंग का उपयोग किया और लगभग 1.41 करोड़ ने अपनी मोबाइल बैंकिंग सेवाओं का इस्तेमाल किया। इसके अलावा YONO, SBI के एकीकृत डिजिटल और लाइफ़स्टाइल प्लेटफ़ॉर्म के लगभग 1 करोड़ उपयोगकर्ता हैं।

खबर शेयर करें

बैंक

RTGS

भारतीय स्टेट बैंक (SBI)

NEFT

IMPS

खबर शेयर करें

अगली खबर