अपने दोस्तों के साथ शेयर करें!

बिज़नेस
08 Mar 2019

ओला को मिला एक और बड़ा निवेशक, हुंडई कर सकती है 1,700 करोड़ का निवेश

ओला में निवेश करेगी हुंडई

कार बनाने वाली कोरियाई कंपनी हुंडई, कैब शेयरिंग कंपनी ओला में 250 मिलियन डॉलर (लगभग 1,752 करोड़ रुपये) निवेश करेगी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हुंडई ओला में चार प्रतिशत शेयर ले सकती है।

बता दें, ओला पिछले कुछ समय से निवेश जुटाने की कोशिश में लगी हुई है। इस डील में ओला की वैल्यू करीब 6 अरब डॉलर (करीब 4 खरब 20 अरब रुपये) हो जाएगी।

अगले कुछ दिनों में इस डील का ऐलान हो सकता है।

प्रसंग

ओला में निवेश करेगी हुंडई

हुंडई का भारतीय बाजार में दूसरा निवेश

अगर ओला के साथ हुंडई की यह डील पक्की होती है तो हुंडई का यह भारतीय बाजार में दूसरा निवेश होगा। हुंडई ने इससे पहले पिछले साल अगस्त में कार शेयरिंग कंपनी रेव (Revv) में 100 करोड़ रुपये का निवेश किया था।

पहले भी स्टार्ट-अप्स में निवेश करती रही हैं कार कंपनियां

निवेश

पहले भी स्टार्ट-अप्स में निवेश करती रही हैं कार कंपनियां

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस डील के बारे में पूछे जाने पर हुंडई मोटर के प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी कई साझेदारों के साथ बातचीत कर रही है, लेकिन वे बाजार में लगाए जा रहे कयासों पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे।

इससे पहली भी कार कंपनियां स्टार्ट-अप्स में फंड करती रही है। फोर्ड और महिंद्रा एंड महिंद्रा ने जूमकार में निवेश किया था।

टोयोटा ने ऑटो सर्विसेज कंपनी ड्रूम में पिछले साल लगभग 2.10 अरब रुपये का निवेश किया था।

बिज़नेस की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

पुराना निवेश

सचिन बंसल ने किया था ओला में निवेश

ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म फ्लिपकार्ट के को-फाउंडर सचिन बंसल ने ओला में 650 करोड़ रुपये (92 मिलियन डॉलर) का निवेश किया है।

ओला को यह निवेश J सीरीज फंडिंग के तहत मिला है। फ्लिपकार्ट से निकलने के बाद यह बंसल की पहली डील है। वहीं ओला में यह अब तक का सबसे बड़ा निवेश है।

बंसल से पहले स्टीडव्यू ने ओला में 75 मिलियन डॉलर का निवेश किया था। बंसल कंपनी में किसी तरह का पद नहीं लेंगे।

मुकाबला

उबर से है ओला का मुकाबला

साल 2011 में भाविश अग्रवाल और अंकित भाटी ने ओला को शुरू किया था। ओला दुनिया की सबसे बड़ी राइड कंपनियों में से एक है। ओला देश के 125 से ज्यादा शहरों में कैब सर्विस प्रदान करती है।

भारतीय बाजार में ओला का सीधा मुकाबला अमेरिकी कंपनी उबर से है। दोनों कंपनियों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा देखने को मिलती है।

ओला ने अक्टूबर, 2018 में चीन की टेन्सेंट होल्डिंग्स और सॉफ्टबैंक ग्रुप से 1.1 अरब डॉलर का वित्तपोषण जुटाया था।

अगली खबर