अपने दोस्तों के साथ शेयर करें!

बिज़नेस
05 Feb 2019

SBI दे रहा है 5 लाख रुपये जीतने का मौका, करना होगा यह काम

SBI ने शुरू की 'प्रेडिक्ट फॉर बैंक 2019' हैकॉथन

देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने हैकॉथन 'प्रेडिक्ट फॉर बैंक 2019' का ऐलान किया है।

हैकॉथन के दो विजेताओं को बैंक की ओर से 5 लाख और 4 लाख रुपये का ईनाम दिया जाएगा।

इसमें अकेले या चार लोगों की टीम में हिस्सा लिया जा सकता है। प्रतिभागियों ने बैंक के सामने ऐसा एनालिटिक्स मॉडल पेश करना होगा, जिसके आधार पर भविष्य में डिफॉल्टर होने वाले व्यापारिक कर्जदारों का अंदाजा लगाया जा सके।

प्रसंग

SBI ने शुरू की 'प्रेडिक्ट फॉर बैंक 2019' हैकॉथन

हैकॉथन

क्या है SBI की यह हैकॉथन

SBI हैकॉथन के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया 24 जनवरी को शुरू हुई थी और 7 फरवरी तक चलेगी।

इसमें प्रतिभागियों को सबसे पहला अपना आईडिया जमा करवाना होगा। जो प्रतिभागी पहले दौर की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूरी कर लेंगे, उनके लिए 'प्रोटोटाइप डेवलेपमेंट' फेज शुरू होगा।

यह 12 फरवरी से 5 मार्च तक चलेगा। इस पूरे हैकॉथन के पहले विजेता को 5 लाख और दूसरे विजेता को 4 लाख रुपये ईनाम में दिए जाएंगे।

चुनौती

प्रतिभागियों के लिए यह चुनौती

SBI ने जानकारी देते हुए बताया कि इसमें हैकॉथन में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को ऐसे एनालिटिक्स मॉडल विकसित करना है जिसके आधार पर भविष्य में डिफॉल्टर हो सकने वाले व्यापारिक कर्जदारों का अंदाजा लगाया जा सके।

इसके लिए वे सार्वजनिक रूप से उपलब्ध डाटा जैसे समाचार, ब्लॉग्स, फोरम, वेबसाइट, सोशल मीडिया, स्टॉक एक्सचेंज, रेटिंग आदि का सहारा ले सकते हैं।

इस हैकॉथन के बारे में जानकारी लेने या रजिस्ट्रेशन करने के लिए sbi.stockroom.io पर जाना होगा।

बिज़नेस की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

कौन होगा विजेता?

छह महीने बाद होगा विजेता का चुनाव

इस हैकॉथन में भाग लेने वाली सभी टीमों और प्रतिभागियों को बैंक के 20 व्यापारिक ग्राहकों के नाम दिए जाएंगे।

प्रतिभागियों को इन नामों में से अगले छह महीनों में डिफॉल्टर होने वाले ग्राहकों के नाम बताने होंगे।

जिस प्रतिभागी या टीम का अनुमान सबसे सही होगा, उसके मॉडल के आधार पर उसे विजेता घोषित किया जाएगा।

हालांकि, अगर बैंक को कोई भी मॉडल पसंद नहीं आता है तो वह ईनाम देने से मना भी कर सकता है।

अगली खबर