नए नियमों के बाद अमेजन से हटे कई प्रोडक्ट

बिज़नेस

01 Feb 2019

ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए नए नियम लागू, अमेजन से हटे कई प्रोडक्ट

ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए शुक्रवार से नए नियम लागू हो गए हैं। ये नियम लागू होने के बाद अमेजन ने अपने प्लेटफॉर्म से ईको स्पीकर, बैटरी और फ्लोर क्लीनर समेत कई प्रोडक्ट्स हटा लिए हैं।

बतौर मीडिया रिपोर्ट्स, नए नियम लागू होते ही कंपनी ने अपने प्लेटफॉर्म से ऐसे प्रोडक्ट हटा लिए हैं जिनमें किसी न किसी प्रकार से अमेजन की हिस्सेदारी है।

दिसंबर में ई-कॉमर्स सेक्टर के लिए प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) के नियमों में बदलाव किया गया था।

असर

अब अमेजन पर नहीं मिलेंगे 'शॉपर्स स्टॉप' के कपड़े

नए नियमों का असर अमेजन के साथ-साथ फ्लिपकार्ट और वालमार्ट जैसी कंपनियों पर पड़ेगा।

नए नियमों के तहत ई-कॉमर्स कंपनियां अपने प्लेटफॉर्म पर वेंडर्स के माध्यम से ऐसे प्रोडक्ट नहीं बेच सकेंगी, जिनमें उनकी हिस्सेदारी है।

इसके अलावा अब कोई प्रोडक्ट किसी प्लेटफॉर्म पर एक्सक्लूसिव नहीं होगा।

शुक्रवार से अमेजन पर 'शॉपर्स स्टॉप' के कपड़े बिकने बंद हो गए हैं। बता दें कि इस कंपनी में अमेजन की पांच फीसदी हिस्सेदारी है।

प्रोडक्ट

अमेजन से हटे ये प्रोडक्ट

शुक्रवार से अमेजन के प्लेटफॉर्म से ईको स्पीकर, प्रेस्टो ब्रांडेड होम क्लीनिंग गुड्स और अमेजन बेसिक प्रोडक्ट जैसे चार्जर और बैटरी बिकने बंद हो गए हैं।

अमेजन और वालमार्ट ने नए नियमों का विरोध किया था। दोनों कंपनियों ने नए नियम लागू करने में कुछ समय की मोहलत मांगी थी, लेकिन उन्हें यह मोहलत नहीं मिली।

इसके बाद कंपनी को अपने प्लेटफॉर्म से ऐसे प्रोडक्ट हटाने पड़े, जिसमें उनकी हिस्सेदारी है।

बिज़नेस की खबरें पसंद हैं?

नवीनतम खबरों से अपडेटेड रहें।

नोटिफाई करें

कंपनी के पास भविष्य के मौके

अमेजन के CFO ब्रायन ओलासावस्की ने कहा कि भारत में अभी स्थिति बहुत मजबूत नहीं है लेकिन कंपनी के पास भविष्य में अच्छे मौके हैं। उन्होंने कहा कि कंपनी का उद्देश्य है कि नए नियमों का कम से कम असर ग्राहकों और विक्रेताओं पर पड़े।

नए नियम

नए नियमों का और क्या असर?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सरकार को इन कंपनियों के खिलाफ डिस्काउंट देने के नियमों की अवहेलना करने की शिकायतें मिल रही थी। जिसके बाद सरकार ने यह कदम उठाया है।

अब कंपनिया अपनी लॉजिस्टिक कंपनी के जरिए फ्री डिलीवरी नहीं कर सकेंगी।

साथ ही ई-कॉमर्स कंपनियां किसी भी उत्पाद पर भारी-भरकम छूट नहीं दे पाएंगी।

इससे उत्पादों पर मिलने वाली भारी छूट पर भी रोक लगेगी, जिसका सीधा असर ग्राहकों पर पड़ेगा।

फायदा

खुदरा व्यापारियों के लिए फायदा

नए नियमों में तुरंत डिलीवरी पर रोक लग सकती है। इसे अनुचित और भेदभावपूर्ण बताया गया है।

इसका असर उन ग्राहकों पर पड़ेगा जिन्होंने जल्दी डिलीवरी के लिए अमेजन प्राइम और फ्लिपकार्ट अश्योरड जैसी सुविधाओं के लिए भुगतान किया है।

अगर कंपनी की किसी ब्रांड में भागीदारी है तो इनके प्लेटफॉर्म पर उस ब्रांड का सामान नहीं बिकेगा।

इन नियमों को ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है, वहीं खुदरा व्यापारियों को इससे लाभ मिलेगा।

खबर शेयर करें

फ्लिपकार्ट

ऑनलाइन खरीदारी

प्रत्यक्ष विदेशी निवेश

खबर शेयर करें

अगली खबर